Oats in Hindi | Oats क्या है? जानिए ओट्स खाने के बेहतरीन फायदे

दोस्तों GoTrends में आपका स्वागत है। आज हम यहां Oats in Hindi पर चर्चा करेंगे| ओट्स (Oats meaning in Hindi) एक प्रकार का अनाज है। जिसको हम बीज के के भी नाम से जानते है। इसमें बहुत सारी nutrients पायी जाती है। यह पोषक तत्व शरीर को संतुलित बनाये रखते है और वजन को नियंत्रित करने में सहायक होता है। ओट्स में अधिक मात्रा में फाइबर होता है, जो हमारे शरीर को मजबूत बनाये रखता है। आजकल आमतौर पर लोग अपने नाश्ते और भोजन में ओट्स का बहुत उपयोग कर रहे है। ओट्स का सेवन बच्चों से लेकर बड़े सभी बड़ी चाव से करते है। आजकल भागदौड़ के समय में, ओट्स दिन पर दिन काफी popular हो रहे हैं। फिल्मी कलाकार हो या योगा टीचर, सभी ओट्स खाने की ही सलाह देते हैं।

तो अब मन में अब प्रश्न आता है कि आखिर ये ओट्स (Oats) है क्या? अगर आप भी यही जानने की इक्षा से आये हैं तो आप बिलकुल सही जगह पे आये है। आज ओट्स पौष्टिक खाने के रूप में सबसे चर्चित नाम बन गया है। खाने के रूप में इस्तेमाल किया जाने वाला ओट्स को oatmeal के नाम से जाना जाता है। चलिए ओट्स और oatmeal in Hindi के बारे में हम विस्तार से जाने।

Table of contents

ओट्स क्या है? (What is Oats in Hindi)

ओट्स एक बहुत ही अनोखा प्रजाति का अनाज है, जो की बीजो की तरह होती है जिसे बहुत सरे स्थानों पर दलिया भी कहा जाता है। पहले ओट्स को केवल जानवर ही खाते थे। लेकिन कुछ सालो में ओट्स पर वैज्ञानिको द्वारा परीक्षण कर खाने योग्य बनाया गया क्यों की इसमें उच्च मात्रा में फाइबर होता है जो आसानी से पानी में घुलनशील हो जाता है। यह पेट को आसानी से भर देता है। जिसके कारण लोगो को भूख जल्दी नहीं लगती है। आजकल यह नाश्ते के रूप में बहुत अधिक खाया जाता है जिसको हम Oatmeal भी कहते है।

What is Oats in Hindi?

(Oats in Hindi) ओट्स को हिंदी में “ जई ” के नाम से जाना जाता है। ओट्स का वैज्ञानिक नाम Avena sativa (एवेना सटाइवा) है जो की काफी हद तक जौ की तरह ही दिखाई देता है। हम आपको बता दें कि ओट्स Poaceae परिवार का आनाज है। भारत में Oats की मुख्यतः Avna sativa और Avna sterilis नामक दो प्रजातियां पाई जाती हैं।

ओट्स में पाए जाने वाले विभिन्न तत्व | Nutrients of Oats in Hindi

दोस्तों ओट्स में ढेर सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं। जैसे – ओट्स में प्रोटीन और विटामिन तो पाए जाते ही हैं इसके आलावा इसमें और भी कई तत्व पाए जाते हैं| वे पोषक तत्व नीचे तालिका में दिए गए हैं।

मैग्नीशियमपोटेशियमआयरन
जिंककैल्शियमकार्बोहाइड्रेट
सोडियमफाइबरप्रोटीन
थाइमिननियासिनराइबोफ्लेविन
फोलेटविटामिन बी 6, 12फास्फोरस
फैटी एसिड (Saturated)फैटी एसिड (Polyunsaturated)फैटी एसिड (Monosaturated)

दोस्तों, ऊपर दिए गए तत्वों के साथ-साथ ओट्स में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण भी पाए जाते हैं जो कि बेहद लाभकारी होते हैं। यदि आप Gluten free भोजन करना पसंद करते हैं तो आपको बता दें कि ओट्स पूर्णतः ग्लूटेन फ्री आहार है।

Also, readज़िन्कोविट (Zincovit) टैबलेट के फायदे और साइड इफेक्ट्स

ओट्स खाने के क्या फायदे है ? (What are The Eating Benefits of Oats in Hindi)

ओट्स खाने के अनेको फायदे है। दोस्तों, आइए चर्चा करते हैं ओट्स के कुछ benefits और advantages के बारे में। अब आप तो oats meaning जान ही गए होंगे। ओट्स एक सामान्य आनाज नहीं है बल्कि यह एक महत्वपूर्ण आनाज है। इसमें कई तरह के विटामिन, मिनरल्स एवं खनिज आदि तत्व पाए जाते हैं जो हमने ऊपर पढ़ लिया है। अब आपके मन में यह सवाल अवश्य ही आ रहा होगा कि यह लाभकारी ओट्स कौन-कौन सी बीमारी में फायदेमंद होता है। तो आइये आपको बताते हैं कि ओट्स खाने से कौन-कौन से फायदे होते हैं।

1. ओट्स करे उच्च रक्त चाप को कंट्रोल

किसी भी व्यक्ति का औसत रक्तचाप 140-159/90-99 होता है। हालांकि, किशोरों के लिए सामान्य रक्तचाप 120 से 80 के बीच होता है। उच्च रक्तचाप या उच्च रक्तचाप की समस्या दिन-ब-दिन गंभीर होती जा रही है। जब ऐसा होता है, तो यह समस्या का कारण बन सकता है, व्यक्ति को दिल का दौरा पड़ता है जिसके कारण उसका जीवन भी नष्ट हो जाता है। ब्लड प्रेशर बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं। उदाहरण के लिए अनिद्रा, तनाव या खराब खान-पान के कारण भी यह समस्या उत्पन्न होती है। ओट्स एक अविश्वसनीय रूप से पौष्टिक खाद्य स्रोत है जहां पोटेशियम और विटामिन सी के साथ-साथ एंटीऑक्सिडेंट, घुलनशील फाइबर मौजूद होते हैं, जो इंसुलिन यानी रक्तचाप को नियंत्रित करके रक्तचाप को कम करता है।

2. ओट्स का सेवन कैंसर रोग में है उपयोगी

कैंसर से पीड़ित रोगियों की संख्या हर दिन बढ़ रही है, इसलिए कैंसर से दूर रहने के लिए स्वस्थ और संतुलित भोजन करना चाहिए। वैज्ञानिकों के अनुसार ओट्स में फाइटोकेमिकल्स मौजूद होते हैं, जो हर तरह के कैंसर को रोकने में मदद करते हैं। साथ ही ओट्स में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। ये कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं को मारने के साथ ही स्वस्थ कोशिकाओं को बनाए रखते हैं। इसलिए ओट्स का सेवन कैंसर से लड़ने में फायदेमंद और कारगर हो सकता है।

3. ओट्स हृदय के लिए है फायदेमंद

ओट्स विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट और ढेर सारे फाइबर से भरपूर होते हैं। यह घटक ऑक्सीकरण प्रक्रिया से बचाता है। यह हृदय की रक्षा करता है।

4. वजन को करना है कम तो खाएं ओट्स

एक स्वस्थ जीवन शैली के लिए स्वस्थ वजन बनाए रखना महत्वपूर्ण है क्योंकि वजन बढ़ने से वजन बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है और मोटापे को “बीमारी का घर” के रूप में जाना जाता है। यही कारण है कि कई लोग फिटनेस, योग और जैसे कई प्रयास करते हैं। वजन कम करने के लिए काम करते हैं, हालांकि सही खाना न खाने के कारण वे वजन कम करने में असफल हो जाते हैं। यह समझाना महत्वपूर्ण है कि ओट्स प्रोटीन के उच्च स्तर के कारण वजन कम करने के लिए अधिक प्रभावी आहार है और Oatmeal में फाइबर मौजूद हो सकता है। इसके सेवन से पेट भर जाता है और इसके परिणामस्वरूप व्यक्ति के लिए भूख को नियंत्रित करना आसान हो जाता है। बता दें कि ओट्स में बीटा ग्लूकन प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है। यह न केवल भोजन को तेजी से पचाने में सक्षम है बल्कि भूख को भी नियंत्रित रखता है। यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो हर सुबह जई के साथ नाश्ता करना वजन कम करने का सबसे प्रभावी तरीका हो सकता है।

बता दे की हर पुरुष और महिला को Height Weight Chart देख कर अपने वजन को BMI Index के मुताबिक balance रखना चाहिए।

5. ओट्स से करे मधुमेह (Diabetes) पर नियंत्रण

अस्वास्थ्यकर खाद्य पदार्थों के सेवन से शरीर के रक्तप्रवाह में ग्लूकोज का स्तर बढ़ सकता है, जिससे मधुमेह (Diabetes) होने की संभावना भी बढ़ जाती है। ओट्स में कुछ ऐसे तत्व होते हैं जो इंसुलिन के प्रभाव को ट्रिगर करते हैं जो रक्त में शर्करा संतुलन को बनाए रखने में सहायक होते हैं। ओट्स फाइबर और बीटा ग्लूकोज का अच्छा स्रोत हैं। ये तत्व घुलनशील होते हैं, जो ग्लाइसेमिक इंडेक्स को कम करते हैं, और मधुमेह के प्रभाव को कम करने में मदद करते हैं।

6. कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने से रोके ओट्स

कोलेस्ट्रॉल के स्तर में वृद्धि के कारण, हृदय से संबंधित कई बीमारियां विकसित होती हैं, इसलिए कोलेस्ट्रॉल को कम करना महत्वपूर्ण है। ज्यादा प्रोसेस्ड चीजें खाने के साथ ही ज्यादा मिर्च पाउडर खाने से भी कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ता है। आप रोज नास्ते में ओट्स का उपयोग कीजिये क्योंकि ओट्स में घुलनशील फाइबर पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल को कम करता है।

7. ओट्स से पाचन तंत्र को बनाये मजबूत

ओट्स कई स्वास्थ्य समस्याओं में से एक से अधिक का इलाज कर सकता है। सबसे आम समस्याओं में से एक खराब पाचन तंत्र है। खराब पाचन तंत्र पूरे शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है। यदि किसी व्यक्ति का पाचन काम नहीं कर रहा है, तो चाहे वह कितना भी पौष्टिक भोजन क्यों न खाए, आहार के लाभकारी तत्व शरीर द्वारा अवशोषित करने की स्थिति में नहीं होंगे, इसलिए यह आवश्यक है कि पाचन तंत्र अच्छा प्रदर्शन करे और कुशलता से। ओट्स में ज्यादातर एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल फाइबर और एंटीबैक्टीरियल पाए जाते हैं जो पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाकर उसे मजबूत बनाने में मदद करते हैं।

8. ओट्स से बढ़ाएं Immunity क्षमता (Immunity Benefits of Oats in Hindi)

यह प्रणाली प्रकृति द्वारा मानव शरीर में बनाई गई थी, और शरीर कई तरह की बाहरी बीमारियों से अपनी रक्षा करने में सक्षम है। जब रोग Immunity कम होती है तो जल्दी ही कई तरह की बीमारियों की चपेट में आ जाता है। इसलिए डॉक्टर लोगों को इम्युनिटी बढ़ाने की सलाह देते हैं। ओट्स में विटामिन सी, विटामिन-ए, विटामिन-बी2, विटामिन-ई, विटामिन-डी आदि मौजूद होते हैं जो आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। अगर आप भी अपने इम्यून सिस्टम को बूस्ट करना चाहते हैं तो ओट्स खाना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

9. ओट्स दिलाये मुहासों से छुटकारा

अनियमित जीवनशैली और हार्मोनल परिवर्तनों के कारण, व्यक्ति अक्सर मुँहासे से पीड़ित होते हैं। ओट्स में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। वे बैक्टीरिया को खत्म करते हैं जो त्वचा पर मुँहासे पैदा करते हैं। इसलिए कुछ ही समय में मुंहासों की समस्या दूर हो जाती है।

10. ओट्स से पाएं नींद की समस्या से निजात

पहले अनिद्रा की समस्या केवल बुजुर्ग लोगो में ही सुने जाते थे, लेकिन युवाओं में अनिद्रा की समस्या अब एक आम बात हो गई है। नींद न आने के पीछे कई कारण होते हैं, जिनमें चिंता, नकारात्मक विचार या एक ऐसी दिनचर्या शामिल है जो सुसंगत नहीं है। नींद की कमी के कारण याददाश्त कमजोर होने लगती है और लोग चिड़चिड़े और तनावग्रस्त हो जाते हैं, यही वजह है कि डॉक्टर कम से कम 8 घंटे आराम करने की सलाह देते हैं। अगर किसी को नींद न आने की समस्या है तो ओट्स का सेवन करना फायदेमंद होता है। हम आपको बता दें कि ओट्स में सेरोटोनिन नाम का पदार्थ मौजूद होता है। यह नींद संबंधी विकारों को दूर करने में मदद करता है।

11. हड्डियों को मजबूत बनाता है ओट्स (Bone Builder Oats in Hindi)

विटामिन डी के साथ दूध वह प्राथमिक तत्व है जो हड्डियों को मजबूत बनाता है। आधुनिक समय में, लोग अधिक वजन होने के डर से दूध नहीं पीते हैं, लेकिन कुछ लोग दूध को नापसंद भी करते हैं। सूर्य के प्रकाश से लिया जाने वाला विटामिन डी अधिकांश लोगों के शरीर में कम हो जाता है, क्योंकि हमारे व्यस्त जीवन में सूर्य का प्रकाश लेने का आदर्श समय कब होता है। यही कारण है कि युवा से लेकर बुजुर्ग सभी की हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। ओट्स में कैल्शियम, विटामिन डी, मैग्नीशियम, सिलिकॉन, आयरन और प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है। ये आवश्यक घटक हैं जो हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं, इसलिए आप हर दिन अपने नाश्ते में ओट्स खाकर मजबूत हड्डियों का निर्माण कर सकते हैं।

12. ओट्स है ऊर्जा का मुख्या घटक (Component of Energy in Oats in Hindi)

यह सुनिश्चित करना आवश्यक है कि आपके शरीर में पर्याप्त ऊर्जा हो क्योंकि जो ऊर्जावान नहीं है वह खुद को कमजोर मानता है। किसी भी कार्य को करने के लिए ऊर्जा की आवश्यकता होती है और ऊर्जा की कमी के कारण व्यक्ति प्रभावी ढंग से कार्य नहीं कर पाता है। हम लोगों को बताएंगे कि दलिया खाने से आपके शरीर को भरपूर ऊर्जा से पोषण मिल सकता है। तो, यह कहा जा सकता है कि जई प्राथमिक ऊर्जा स्रोत हैं। इसलिए, यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपका शरीर पूरे दिन बिना थकान महसूस किए ऊर्जावान बना रहे, सुबह-सुबह ओट्स खाएं।

13. चिकन पॉक्स में ओट्स है लाभकारी

चिकन पॉक्स जैसी स्थिति में ओट्स मददगार हो सकता है। चिकन पॉक्स की वजह से पूरे शरीर पर दाने दिखने लगते हैं ऐसे में खुजली और सूजन शुरू हो जाती है। ऐसा होने से रोकने के लिए आप ओटमील का इस्तेमाल फेस पैक के लिए कर सकते हैं। इसके अलावा, आप नहाने के पानी में ओट्स का पाउडर मिलाकर स्नान कर सकते हैं, इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट घटक खुजली और सूजन को कम करने में मदद करता है।

14. कब्ज को करना है दूर तो खाएं ओट्स

गलत खान-पान के कारण होने वाली कब्ज अब एक ऐसी समस्या बन गई है जो बच्चों से लेकर बड़ों तक हर जगह नजर आती है। कब्ज कई तरह की बीमारियों का कारण है। नतीजतन, माइग्रेन (सिरदर्द) पेट फूलना और अत्यधिक दर्द चक्कर आना, भूख न लगना, मतली उल्टी और अपच जैसे रोग प्रकट होने लगते हैं। हम बता सकते हैं कि ओट्स में फाइबर अच्छी मात्रा में मौजूद होता है। यह उन विशेषताओं में घुलनशील है जो हमारे भोजन को पचाती हैं, और फिर हमारे द्वारा खाए जाने वाले भोजन से महत्वपूर्ण पोषक तत्वों को अवशोषित करती हैं और फिर उन्हें आपके शरीर में ऊर्जा को बढ़ावा देती हैं। यह आपके मल को पूरी तरह से हटाने में मदद करता है, इस प्रकार कब्ज को दूर करता है।

15. ओट्स बालों के लिए है फायदेमंद

आधुनिक दुनिया में अपने आहार और पेय पदार्थों का अच्छी तरह से ध्यान रखना मुश्किल है, जिसके परिणामस्वरूप हमें वह पोषण नहीं मिलता है जिसकी हमें आवश्यकता होती है। यही कारण है कि आज, सभी महिला और पुरुष बालों के झड़ने, रूसी और समय से पहले सफेद होने से पीड़ित हैं। इसके अतिरिक्त बालों के अस्वस्थ होने के अन्य कारण भी होते हैं, जैसे हार्मोन का असंतुलन, पुरानी बीमारियां या रसायनों के उपयोग से भी बालों को नुकसान हो सकता है। आपको बता दें कि ओट्स में प्रोटीन, विटामिन के अलावा पोटैशियम, मैग्नीशियम जिंक, आयरन और मैग्नीशियम जैसे जरूरी मिनरल्स मौजूद होते हैं जो बालों से जुड़ी समस्याओं को दूर करते हैं।

Also, readHeight Weight Chart – पुरुषों और महिलाओं के लिए आदर्श वजन, बीएमआई चार्ट

ओट्स के अन्य फायदे | Some Other Benefits of Oats in Hindi

ओट्स के स्वास्थ्य लाभों के बारे में जानने के बाद यह स्पष्ट हो जाना चाहिए कि ओट्स हमारे स्वास्थ्य के लिए कितने महत्वपूर्ण हैं। आईये Oats in Hindi में कुछ अन्य फायदे भी देख लेते है।

  1. ओट्स में विटामिन ई और विटामिन सी पाया जाता है। इनका उपयोग त्वचा को चमकदार बनाने के लिए किया जाता है। अगर आप अपने लुक को बेहतर बनाना चाहते हैं तो ओटमील का पाउडर बना लें और फिर इसे दूध में घोल लें। अपने चेहरे को स्क्रब से स्क्रब करने के लिए इसका इस्तेमाल करें।
  2. ओट्स पेट के रोगों के लिए ऊर्जा का एक बड़ा स्रोत है।
  3. ओट्स का सेवन करने से याददाश्त तेज होती है क्योंकि ओट्स में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व और प्रोटीन मौजूद होते हैं, जो दिमाग को पोषण प्रदान करते हैं।
  4. ओट्स में विटामिन बी फोलेट, विटामिन बी 6 और साथ ही विटामिन बी6 समेत कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो मानसिक तनाव को कम करने में मदद कर सकते हैं।
  5. ओट्स विटामिन ई और फाइबर से भरपूर होते हैं जो रूखी त्वचा को नमी प्रदान करते हैं और त्वचा को मुलायम बनाते हैं।

बच्चों के लिए ओट्स खाने के क्या फायदे है ? (What are The Eating Benefits For Children’s in Hindi)

  • ओट्स फाइबर से भरपूर होते हैं। जब बच्चा 6 महीने से बड़ा हो जाए तो इसे अपने बच्चे को खिलाएं क्योंकि इसमें मौजूद पोषक तत्व आपके बच्चे को मजबूत बनाने में मदद करेंगे।
  • बच्चों को नाश्ते में ओट्स खिलाएं। इस तरह बच्चों को भरपूर प्रोटीन मिलेगा और भूख भी नहीं लगेगी।
  • जब बच्चों को ओट्स भोजन के रूप में दिया जाता है तो बच्चों के दिमाग का विकास तेजी से होता है।
  • जब आप बच्चों को दलिया की सही मात्रा देते हैं तो यह बच्चों के इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में मदद करता है।
  • ओट्स के पोषक तत्व संक्रमण रोधी होते हैं और बच्चों को दलिया खाना चाहिए।
  • शिशुओं की हड्डियाँ नाजुक होती हैं और उन्हें बनाने के लिए दूध में दलिया मिलाकर खिलाना चाहिए।

अब सवाल यह है कि इन फायदेमंद ओट्स का इस्तेमाल कैसे किया जा सकता है। तो चलिए निचे पता करते हैं।

ओट्स का उपयोग कब और कैसे करें | How to use Oats in Hindi

ओट्स में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं। सही तरीके से और सही मात्रा में सेवन करने पर ये स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। अगर आप गलत तरीके से ओट्स का सेवन करते हैं तो यह आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। तो आइए जानें कि ओट्स क्या हैं और इनका इस्तेमाल कैसे किया जा सकता है।

Note – ओट्स खाने से पहले पैकेट में इस्तेमाल किए जा रहे ओट्स की एक्सपायरी डेट चेक कर लें। यदि आप ओट्स का सेवन करने का इरादा रखते हैं तो पहली बार पहले दिन कम मात्रा में इसका सेवन करें और अच्छी तरह से पकाकर इसका सेवन करें। आपको बता दें कि ओटमील को आप दिन में कभी भी और दोपहर में, साथ ही शाम को या रात में भी खा सकते हैं।

  1. ओट्स को अच्छी तरह से पकाया जाता है और हरी सब्जियों के साथ पकाया जाता है, और आप सुबह जल्दी नाश्ता कर सकते हैं।
  2. ओट्स जैसे खिचड़ी से दाल और चावल बनाकर दोपहर के भोजन के समय सेवन किया जा सकता है.
  3. ओट्स को मीठा और दूध के साथ पकाकर नाश्ते में या शाम को भी खाने के लिए एक बढ़िया विकल्प है।
  4. ओट्स को सूप बनाकर खा सकते हैं.
  5. जई के दाने अंकुरित होने के बाद इसे ओट स्प्राउट सलाद के रूप में सेवन करें। यह काफी पौष्टिक होता है।

ओट्स के प्रकार | Types of Oats in Hindi

ओट्स बाजार में उपलब्ध विभिन्न स्वादों में पाया जा सकता है, हालांकि स्वाद-युक्त ओट्स स्वाद मुक्त दलिया के समान नहीं होते हैं। बिना स्वाद वाले ओट्स में कई तरह के प्राकृतिक लाभ और अधिकांश पोषक तत्व होते हैं, इसलिए आपको केवल ओट्स का ही उपयोग करना चाहिए जो स्वाद से मुक्त हों। अब हम आप सभी को सबसे लोकप्रिय और महत्वपूर्ण प्रकार के ओट्स के बारे में बताएंगे। ये सबसे महत्वपूर्ण प्रकार के ओट्स हैं जो आपके शरीर और सुंदरता को प्राथमिकता देने में मदद करते हैं।

  • रोल्ड ओट्स (Rolled Oats)
  • इंस्टेंट ओट्स (Instant Oats)
  • स्टील कट ओट्स (Steel Cut Oats)
  • ग्रोट्स ओट्स (Groats Oats)

ओट्स का उत्पादन कहाँ होता है | Where is oats produced?

ओट्स की खेती शुरू में स्कॉटलैंड में की जाती थी। इसके अनेक लाभों के आलोक में विश्व भर में उत्पादन का विकास हो रहा है। ओट्स कनाडा, पोलैंड, चीन, रूस, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका, फ्रांस और भारत में भारी मात्रा में उगाए जाते हैं। हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और उड़ीसा भारत में सबसे अधिक जई की फसलें हैं।

ओट्स खाने के नुकसान क्या है ? (What are The Side-Effects of Oats in Hindi)

दोस्तों, अभी तक तो हमने ओट्स के कितने लाभ होते है और कैसे उपयोग किये जाते है, ये हमने देख लिया। अब ओट्स के कुछ नुकसान भी देख लेते है। अगर ओट्स को सही मात्रा में इस्तेमाल न किया जाये तो ये हमारे शरीर को नुकसान भी पंहुचा सकता है।

  • पोषक तत्वों में कम दलिया का अधिक सेवन करने से नींद की कमी, थकान, हड्डियों में दर्द और मांसपेशियों में कमजोरी, चिंता और नाखून की वृद्धि न होना जैसी गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं जो कि माइग्रेन, मोतियाबिंद बीमारियों के शिकार हो सकते है।
  • ओट्स ठीक से न पके हुए खाने से पेट से जुड़ी समस्याएं होती हैं। इससे पेट में कब्ज की समस्या हो जाती है।
  • ओट्स में फैटी एसिड अधिक होता है, इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।
  • ओट्स कई रूपों में उपलब्ध हैं। ओट्स में शुगर होता है जो मधुमेह रोगियों के लिए खतरनाक होता है। इसलिए ऐसे ओट्स का सेवन न करें जिनमें शुगर हो।

Also, readवजन घटाने के लिए 10 बेहतरीन Yoga

अगर आप ओट्स के सेवन से किसी भी तरह की हेल्थ problem से जूझ रहे हैं तो तुरंत ओटमील खाना बंद कर दें। अपने नजदीकी चिकित्सक से संपर्क करें। हमें उम्मीद है कि आपको Oats in Hindi की जानकारी मिल गयी है और दलिया खाने के फायदों के बारे में जान गए होंगे।

Rahul

Raj Srivastava

Hello, My Name is Raj Srivastava. I Am Obsessed With WordPress and Write Articles About Every Category Like Tech, Entertainment, Finance, Astrology, Exams, Facts, Travel, etc.

Leave a Comment